कुछ सूंदर लड़कियो के साथ उनके अजीबो गरीब पति देख कर ऐसा लगता

हास्पिटल में बुरी तरह ज़ख़्मी पंडित जी से मिलने गए दोस्त ने पूछा
“क्या हुआ था ?”
यार करवाचौथ की शाम को तेरी भाभी से अपनी आदत के अनुसार हड़बड़ी में बोल दिया –
जल्दी पूजा करो ……दो,तीन जगह और जाना है ।

एक इंजीनियर रिक्शा वाले से: भाई खाली हो क्या?
रिक्शा वाला: हाँ साहब बिलकुल खाली हूँ।
इंजीनियर: चलो आओ फिर ताश खेलते हैं, मैं भी खाली हूँ।

कुछ सूंदर लड़कियो के साथ उनके अजीबो गरीब पति देख कर ऐसा लगता है..
जैसे..
बेचारी ने उपवास में गलती से कुछ खा लिया होगा.!!

अच्छे – खासे आदमी की भूख मर जाती है …….
जब बीबी कहती है :-
“खाना खा लो..
फिर कुछ बात करनी है !!

हिंदी का पीरियड था
मास्टर ने पूछा– कविता और  निबंध मैं क्या अंतर है
स्टूडेंट– प्रेमिका के मुंह से निकला एक शब्द भी कविता होता है …और
पत्नी का एक ही शब्द निबंध के समान होता है
मास्टर के आंख मैं आंसू आ गए,गला भर आया
उन्होने उस लड़के को क्लास का मानीटर बनाया

*आज का विचार*
समझनी है जिंदगी
*तो पीछे देखो,*
जीनी है जिंदगी ::
*को तो आगे देखो* …..
जीवन में दो चीजों का कभी अंत नहीं होता :
भगवान की कथा, और मनुष्य की व्यथा !!
*किसी के सुख का कारण बनो, भागीदार नहीं….
पर दुख में भागीदार बनो कारण नहीं…!!!
सुप्रभात!